हू इज़ मिस्टर राजनाथ सिंह

इस लेख का कोई साक्ष्य या प्रमाण नही है, लेकिन एक मित्र ने सुनाया तो सोचा कि भाईयो को भी बताऊं....ये आज की टीवी की सच्चाई है...हुआ ये कि एक बडे चैनल के पॉलिटिकल एडीटर ने बीजेपी अध्यक्ष को फोन कर के किसी विषय पर उनकी प्रतिक्रिया के लिये फोन किया...एडीटर महोदय बडे थे, सम्मानीय थे, और राजनाथ जी भी उनको जानते थे। लिहाजा राजनाथ राज़ी हो गये। कहा कि किसी को भेज दो , मैं बाइट दे दूंगा। उन एडीटर महोदय ने अपने चैनल में काम कर रही एक सुंदर सी बाला(ये मैं नही जानता कि वो कितनी सुंदर थी) को बाइट लाने के लिये भेज दिया। वो राजनाथ के धर पंहुची। वहां राजनाथ जी कई और लोगो के साथ बैठे थे। वो मौहतरमा पंहुचीं। और धमाका किया...उन्होने वंहा बैठे लोगो से पूछ डाला कि हू इज मिस्टर राजनाथ सिंह हीयर .....वंहा बैठे लोगो और राजनाथ सिंह का क्या हाल हुआ होगा।...ये आप खुद ही सोच लीजिये।
e

टिप्पणियाँ

बेनामी ने कहा…
bharosa nahin hota
!
भाई मैने भी कहा कि साक्ष्य नही है मेरे पास, लेकिन लेख का उद्देश्य ये कि टीवी में कैसे लोग आ रहे है...
बेनामी ने कहा…
यह कैसा लोकतंत्र है । भारत का मिडीया किस के लिए और किस के द्वारा संचालित है ? एक तथाकथित बडे समाचार समुह की प्रतिनीधी भारत के सबसे बडी पार्टी के मुखिया को नही जानती, यह हम सभी के लिए शर्म की बात है । भारत मे इटली की कोई कुतीया भी आ जाए तो सारे समाचार समुह उसके पिछे दुम हिलाते हुए लग जाएगे । ये काले अंग्रेज है !!!
संजय तिवारी ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
अपने को आपकी बात पर यकिन है. पत्रकारों की काबलियत पर पूरा यकिन है :D
कोई दूसरा क्यों सोचे भाई? अब या तो राजनाथ सिंह सोचें या फ़िर वे एडीटर सोचें जिन्होंने ऎसी बाला को बाईट (जिसकी एक हिन्दी काटना भी होती है) लेने भेजा.

लोकप्रिय पोस्ट