ऑस्कर का अतीत




वर्ष 2007 में ऑस्कर पुरस्कार समारोह 79 वर्ष पुराना हो गया है.
एकेडमी ऑफ़ मोशन पिक्चर आर्ट्स ऐंड साइंस ने ऑस्कर पुरस्कारों की शुरूआत 1929 में की थी जब सिनेमा ने अभी बोलना सीखा ही था.

पहला पुरस्कार समारोह रूज़वेल्ट होटल में हुआ जिसमें कुल 250 लोग मौजूद थे और टिकट की क़ीमत थी 10 डॉलर जो उस समय के हिसाब से बहुत महँगी थी.

आज जो आख़िरी वक़्त तक पता नहीं होता कि इनाम किसे मिलेगा, तब ऐसा कुछ नहीं था. इनाम की घोषणा पहले ही कर दी जाती थी.

लेकिन 1940 में सीलबंद लिफ़ाफे की परंपरा शुरू हुई जो आज तक चल रही है, जब तक मंच से घोषणा नहीं हो जाती, किसी को पता नहीं होता कि इनाम किसे मिलने वाला है.

1953 में पहली बार ऑस्कर पुरस्कार समारोह का प्रसारण टेलीविज़न पर हुआ.

1961 में पहली बार एनबीसी टीवी ने ऑस्कर पुरस्कार समारोह का सीधा प्रसारण किया.

लोकप्रियता

1966 में ऑस्कर पुरस्कार का रंगीन प्रसारण पहली बार हुआ और 1961 से लेकर 1975 तक एनबीसी ने ऑस्कर समारोह का प्रसारण किया.

बाद में ऑस्कर के प्रसारण का अधिकार एबीसी ने ख़रीद लिया और उसके पास इस समारोह का प्रसारण 2008 तक करने का अधिकार है.

ऑस्कर पुरस्कार समारोह की ख़ास बात ये भी रही ये कभी भी लंबे समय तक एक स्थान पर आयोजित नहीं किया गया है.

ऑस्कर समारोह का आयोजन सबसे अधिक बार श्राइन थिएटर और लॉस एंजेल्स के म्युज़िक सेंटर में हुआ है जहाँ बड़ी संख्या में लोग बैठ सकते हैं.

इस बार का ऑस्कर समारोह कोडेक थिएटर में हुआ है जिसमें लगभग साढ़े तीन हज़ार लोग बैठ सके.

टिप्पणियाँ

MARKANDEY RAI ने कहा…
Anuraag jee bahut achhi jaankari...
plz mujhe bataayen ki bharat ke pahale oscar award winner bhanu athaiya the ya satyajeet ray, ray ko to life time award mila tha jo main category me nahi aata hai

लोकप्रिय पोस्ट