बंदे में था दम...

आज दो अक्टूबर है...देश के लिए गांधी जयंती और विश्व के लिए अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस..हिंदुस्तान में बापू के स्वराज्य की..आजादी की कल्पना कहीं खो गई है शायद...बापू होते आज तो शायद यही कहते कि कौरवों के कंधो पर बैठा हुआ भारत धृतराष्ट्र हो गया है..हर पल अपनी छोटी छोटी बातों से जीवन को संदेश बना देने वाले महात्मा गांधी के जीवन का संदेश पढ़ा है क्या किसीने...समझा है क्या किसी ने...यूं तो गांधी को जानने समझने के लिए शायद कई जन्म लेने पड़ें लेकिन हमने कोशिश की है संवेदना के उस स्तर को आप तक लाने की..एक मुहिम छेड़ी है हमने आपके लिए...क्योंकि कहीं न कहीं बापू का व्यक्तित्व हर किसी को देता है ये आभास की वाकई यार बंदे में था दम..
हिंदुस्तान ने अपनी आजादी की आधी सदी के बाद समाजवाद से किनारा कर लिया...आज पूंजीवादी दुनिया में उतरने की होड़ है..उथल पुथल है..देश आधुनिक राह पर चलने के लिए विश्व का हमराह बनना चाहता है..लेकिन प्रगति की दौड़ में सबको साथ लिए बगैर चलना मुश्किल है..तो ऐसे कौन से विचार हैं जिन पर चलने से हमें मिल जाएगा संपूर्ण विकास का रास्ता....वो कौन से विचार हैं जो बढ़ रही हिंसा..असुरक्षा और भय से मुक्त करेंगे..तब निगाहें टिकती हैं न सिर्फ देश की बल्कि विश्व की..एक रहस्यमयी इंसान पर जो है हमारा बापू...महात्मा गांधी..जिसमें था जमाने को हिलाने का दम..हां यकीनन बंदे में था दम..
समय की मांग हैं बापू...आजादी के वक्त और उसके कुछ साल तक वो आदर्श थे...लेकिन आज के दौर में बापू एक सीख हैं...वो एक संवाद हैं...वो एक चरित्र हैं जिसके अंदर समाया है एक राष्ट्र..दरअसल वो एक ऐसा विचार हैं जो जब कभी हमारे दिल के दरवाजे खोलता है तो ऐसा समाता है हमारे भीतर की हम उसे व्यक्ति से समाज और समाज से राष्ट्र और राष्ट्र से विश्व बना देते हैं...बापू के जन्मदिन पर वक्त की मांग के चलते कम से कम हम भी सीखें कुछ और चलें उनके पद चिन्हों पर..दो अक्टूबर पर बापू के लिए हमारी ख़ास पहल...बंदे में था दम..

गांधीजी मानते थे कि उनके विचारों पर चलकर ही उन्हें पाया जा सकता है...जाहिर सी बात है हम तो यही कहेंगे कि इस बंदे जैसा दम पाने के लिए कुछ केमिकल लोचा तो होना चाहिए..

टिप्पणियाँ

Anil Pusadkar ने कहा…
सही कहा आपने,आज उनके विचारों कि सबसे ज्यादा ज़रुरत है।
परमजीत बाली ने कहा…
सही है।

आप सभी को गाँधी जी, शास्त्री जी की जयंति व ईद की बहुत बहुत बधाई।
Udan Tashtari ने कहा…
बहुत सही!!

शुभ दिवस की बधाई एवं शुभकामनाऐं.

लोकप्रिय पोस्ट